आज का समाचार। Daily News । May 27, 2020 ।

Daily News

May 27, 2020

डीएसटी-एसईआरबी ने कोविड 19 के खिलाफ एंटीवायरलों के अध्ययन का समर्थन

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तहत विज्ञान एवं इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड, भारत सरकार। अभी हाल में कोविड 19 के खिलाफ संरचना आधारित संभावित एंटीवायरलों की पहचान के लिए आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर प्रविंद्र कुमार द्वारा एक प्रस्तावित अध्ययन का समर्थन किया है।

SBI के 100 करोड़ के नुकसान पर CBI द्वारा मामला


CBI ने भारतीय स्टेट बैंक को एक सौ करोड़ रुपये से अधिक का कथित नुकसान पहुंचाने वाली एक निजी कंपनी, और उसके तीन निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने ब्यान दिया है उसने हरियाणा में करनाल के एक निजी चावल कंपनी और उसके तीन निदेशकों के खिलाफ भारतीय स्‍टेट बैंक से प्राप्त शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया है। आरोप यह है कि अभियुक्‍तों द्वारा गलत तथ्‍यों के आधार पर SBI से ऋण सुविधा प्राप्त की।
सीबीआई ने कहा है कि आरोपियों ने ऋण राशि का कथित तौर पर गलत इस्‍तेमाल कर बैंक को धोखा किया है। यह भी आरोप है कि निदेशकों द्वारा ऋण राशि को नहीं चुकाया। जिस कारण बैंक को एक सौ करोड़ रुपये से ज्‍यादा का नुकसान हुआ है ।

CBI

अन्तराष्ट्रीय श्रम संगठन की चेतावनी दशकों तक रहेगा कोरोना का असर

अन्तराष्ट्रीय श्रम संगठन ने चेतावनी दिया है। कोरोना संक्रमण महामारी से दुनिया भर में अर्थव्यवस्थाओं को धक्का लगा है। इससे बेरोज़गारी बढ़ी है, और इसमें युवा कर्मचारियों पर ज़्यादा असर पड़ा है।

संयुक्त राष्ट्र की संस्था ने एक रिपोर्ट में कहा, 29 साल से कम उम्र का हर छह में से एक या एक से ज़्यादा व्यक्ति ने काम बंद कर दिया है। जिसमें महिलाओं पर सबसे गंभीर प्रभाव पड़ा है। संस्था का कहना है लॉकडाउन से रोज़गार की संभावनाओं पर असर पड़ा है, जो कई दशकों तक दिखाई देता रह सकता है।
श्रम संगठन ने युवाओं की मदद के लिए, तत्काल और बड़े पैमाने पर मदद के लिए योजनाएँ चलाए जाने की अपील किया है।

केन्‍द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने उद्योग और व्यापार संघों के साथ बैठक

केन्‍द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बैठक की। बैठक में उद्योग और व्यापार संघों के कोविड-19 लॉकडाउन लॉकडाउन के प्रभाव का आकलन और गतिविधयों में ढील पर चर्चा हुई। अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए उनके सुझावों पर पर गौर करने के लिए इस तरह की यह पांचवी बैठक थी।
बैठक में वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री श्री सोम प्रकाश और श्री एच.एस.पुरी, और वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक में आज संघों की ओर से सीआईआई, फिक्‍की, एसोचैम, नैसकॉम, पीएचडीसीआई, सीएआईटी, एफआईएसएमई, लघु उद्योग भारती, एसआईएएम, एसीएमए, आईएमटीएमए, एसआईसीसीआई, एफएएमटी, आईसीसी और आईईईएमए ने हिस्‍सा लिया था ।

मुज़फ़्फ़रपुर रेलवे स्टेशन का गलत एक वीडियो वायरल

बुधवार, 27 मई 2020 को मुज़फ़्फ़रपुर रेलवे स्टेशन का एक वीडियो को दिन भर वायरल रहा। वीडियो में एक महिला का शव पड़ा दिख रहा है और दो साल का बच्चा उस मृत शरीर पर पड़ा कपड़ा हटा कर उससे खेल रहा है।
यह विडिओ सोशल मीडिया पर पूरे दिन कई बार शेयर हुआ और लोगों के कमेंट्स आते रहे। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में मजदूरों की होती मौत के बीच वायरल होते इस वीडियो पर कयास लगाए जाते रहे कि महिला की मौत भूख से हुई होगी। परन्तु रेलवे अधिकारिओ द्वारा जाँच किया। महिला पहले से ही बीमार थी। इसी कारण मृत्यु हुई है। इसकी पुष्टि उनके परिवार ने की है, जो 23 मई 2020 को अहमदाबाद से कटिहार के लिए ट्रेन में चढ़ी थी। 25 मई 2020 को इनके देहांत हो जाने पर मुज्ज़फरपुर स्टेशन पर उनके परिवार द्वारा उतार लिया गया था।
रेलवे ने आग्रह किया है कि इस तरह ग़लत ख़बरों को ना फैलाए।

ऑरेंज ज़ोन

ऑरेंज ज़ोन

ग्रीन ज़ोन

केंद्रीय गृहमंत्रालय ने लॉकडाउन 3.0 के बारे में बात करते हुए जो एक सबसे महत्वपूर्ण बात काही वह थी जिलों को अलग-अलग 3 जोनों में बांटना। जिसमें रेड ज़ोन, ऑरेंज ज़ोन, और ग्रीन ज़ोन का जिक्र आता है । 

जहां पर कोविड-19 की मरीजों की संख्या ज्यादा है या लगातार मामले सामने आ रहे हैं ऐसे जिलों को रेड ज़ोन में रखा गया है। इससे थोड़ा अलग ऑरेंज जोन मैं उन जिलों को रखा गया है जिसमें पिछले 21 दिन में कोई नया मामला नहीं आया है लेकिन इससे पहले वह रेड ज़ोन में था। यदि किसी ऑरेंज ज़ोन में आने वाले डिस्ट्रिक्ट में अगले 21 दिन तक भी कोई नया केस सामने नहीं आता है उस स्थिति में उस जिला को ग्रीन जोन में रखा जाएगा।

पत्र में बताया गया है की कौन सा जिला किस जोने में आता है इस बात का निर्णय स्थानीय प्रशासन वह सरकार के जिम्मे है। ज़ोन की आइडेंटिटी हर हफ्ते या हफ्ते से पहले भी बदली जा सकती है। केंद्र ने राज्य सरकारों से और जिला प्रशासन से यह आग्रह किया है कि स्थिति के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी अपडेट की जाए और उसके आधार पर ज़ोन की पहचान बताई जाए। 

देशभर में क्या-क्या प्रतिबंधित रहेंगे, लॉक डाउन 3.0?

स्पष्ट रुप से अब कयास लगाने का वक्त नहीं है। केंद्रीय गृहमंत्रालय ने आदेश जारी कर सभी चीजों के बारे में स्पष्ट किया है, और कुछ चीजों के बारे में लगातार अपडेट आ रहा है। ऐसे में हम आपको बताते हैं कि वह सेवाएं या गतिविधियां क्या है जो पूरे देश में प्रतिबंधित रहेंगी-

  • मंत्रालय द्वारा अनुमित श्रेणियों को छोड़कर हवाई, रेल, मेट्रो सेवाएं और सड़क द्वारा अंतर राज्य यात्रा प्रतिबंधित रहेंगी।
  • शैक्षणिक तथा प्रशिक्षण कोचिंग संस्थान (ऑनलाइन/दूरस्थ शिक्षा की अनुमति होगी) मतलब जो लोग ऑनलाइन कोचिंग या क्लासेस चलाते हैं उन्हें इसकी अनुमति होगी जबकि ऑफलाइन इस प्रकार की गतिविधियां  प्रतिबंधित रहेगी। 
  • होटल और रेस्तरां सहित आतिथ्य सेवाएं भी प्रतिबंधित रहेगी। 
  • सिनेमा घरों, मॉल, जिम, खेल परिसरों आदि स्थानों पर बड़ी संख्या में लोगों का इकट्ठा होना भी प्रतिबंधित होगा। लोगों से बार-बार अपील किया जा रहा है कि एक जगह झुंड
  • लॉकडाउन 3.0  में धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक और अन्य प्रकार की सभी सभाएँ भी प्रतिबंधित गतिविधियों में शामिल है।
  • शाम के 7:00 से सुबह के 7:00 बजे तक गैरजरूरी कामो के लिए कहीं पर आना-जाना भी प्रतिबंधित है।

वेबसाइट के डेविड लिखते है-

लोकसभा चुनाव सिर पर थे.

Leave a Reply